Stay Connected:


Testimonials

Home Testimonials

TESTIMONIALS

रासायनिक उर्वरक और भूमि शोधक का प्रयोग कर अगेती आलू की फसल में अभूतपूर्व उत्पादन, ज्यादा बड़े आलू, ज्यादा स्वस्थ पौधे, उत्पादन डेढ़ गुने से ज्यादा.

Pravesh Verma

Barabanki

गन्ने की फसल में भूमि शोधक का प्रयोग किया, एक समान जमाव, ज्यादा किल्ले स्वस्थ फसल, मोटे गन्ने, गन्ने की लंबाई ज्यादा और उत्पादन में डेढ़ गुने से भी ज्यादा की बढ़त. रोगों से बचाव, गन्नो की पत्तियां पीली होने के रोग से बचाव, जिस खेत में भूमि शोधक का प्रयोग नहीं किया था उस खेत के गन्ने वैसे नहीं हैं जैसा भूमि शोधक वाले खेत का है. साफ-साफ दिखता है गन्ना अभी भी खड़ा है और कोई भी साफ फर्क देख सकता है. बहुत बढ़िया उत्पाद है. मैं बिल्कुल संतुष्ट हूं.

धन्यवाद

मोहम्मद यूनुस

चांदपुर की चुंगी

बिजनौर (उत्तर प्रदेश)

भूमि शोधक के प्रयोग से धान की फसल में उत्पादन में पहली बार में 50% की बढोत्तरी एवं धान की क्वालिटी में बड़ा फर्क। ज्यादा कल्लों की संख्या, स्वस्थ फसल, कीट और रोगों का प्रकोप कम। रासायनिक उर्वरक की मात्रा आधी। एक साथ इतने लाभ, यह तो भूमि शोधक से ही संभव है। चमत्कारिक उत्पाद है।
बृजेश मौर्य
अमेठी (उ.प्र.)
9792514366
पहली बार गेहूँ में भूमिशोधक और उपजवर्धक का प्रयोग किया. परिणाम बहुत अच्छा रहा. ज्यादा अच्छा जमाव, समान रुप से फसल की बढ़वार, ज्यादा किल्ले, पौधों में पत्तियां चौडी, डँठल मोटी, बाली में दानों की संख्या ज्यादा और सुडौल दाने….कुल मिलाकर 40% उत्पादन ज्यादा पाया. लागत खर्च में बढ़त प्रति एकड 2400 रूपये आयी. उर्वरक की मात्रा 20% घटायी. कुल मिलाकर फायदे में रहा. मिट्टी में फर्क ये है की कड़क खेत की जुताई के बाद भी अब बडे बडे ढ़ेले नहीं निकलते और मिट्टी भुरभुरी है. इस बार सभी खेतों में प्रयोग करूंगा. आलू में प्रयोग किया है, रासायनिक खाद के साथ. जबरदस्त फसल है उम्मीद है अच्छे उत्पादन की.
संजीव यादव
कानपुर (उ. प्र.)
इस बार दूसरी बार मेंथा में भूमि शोधक और उपजवर्धक प्रयोग किया. पिछली बार 20% तेल का उत्पादन ज्यादा मिला था, इस बार फिर उतना ही उत्पादन बढकर मिला है. उसी खेत में धान लगाया था लेकिन उपजवर्धक नहीं ड़ाला फिर भी मेरा धान बगल के बाकी किसान भाइयों से ज्यादा अच्छा रहा. अब मैं गेहूँ में इसका प्रयोग करने जा रहा हूँ. बहुत अच्छा प्रोड़क्ट है. यथा नामे तथा गुणे.
प्रयोग के पहले तो मैं भी संदेह कर रहा था लेकिन अब विश्वास हो गया. मैं तो सभी किसान भाईयों से कहूँगा कि एक बार प्रयोग करके देख लो, आपके पैसे का नुक़सान नहीं होगा और निराश नहीं होना पडेगा.
Deepak Verma
Barabanki (U.P.)
मेरी केले की फसल खराब हो गयी थी, जुताई करने की नौबत आ गयी थी तभी हमारे एक मित्र जो सीतापुर ज़िले के इस कम्पनी के वितरक हैं और मेरे परिचित हैं उन्होने मुझे 2 पैकेट उपजवर्धक दिये और प्रयोग की सलाह दी.
15 दिन में दो बार छिड़काव किया, मेरी केले की फसल स्वस्थ हो गयी. इतना प्रभावी उत्पाद था की केले की फली में भी इसका असर देखने को मिला. नीचे की फली भी बड़ी बड़ी आयी और घार की लम्बाई भी ज्यादा आयी.
मैं तो उपजवर्धक उत्पाद का प्रशंसक हूँ अब, और प्रयोग भी करता हूँ.
मैने खुद इसका प्रभाव देखा है और 25 हजार का नुक़सान होने से उपजवर्धक ने बचाया था.
जिस किसान भाई को संदेह हो प्रयोग करके देख लें, आप भी इसको अच्छा ही बताओगे.
Ramraj Verma
Mahmudabad, Dist Sitapur (U.P.)
धान के खेत में उपजवर्धक का स्प्रे किया था, बहुत शानदार फसल हुई और उत्पादन भी ज्यादा मिला. उपजवर्धक अच्छा उत्पाद है. किसान भाई ज़रूर प्रयोग करें.
शांतनु चक्रवर्ती
हूगली (प. बं.)
मिर्च में प्रयोग किया था उपजवर्धक. 15 दिन में एक बार छिडकाव करता था, 10 बिस्वा मिर्च में 36 कुंतल मिर्च निकल चुकी है और अभी भी तोडान जारी है.
उपजवर्धक का खर्चा आया 1500/-, उत्पादन में अभी तक बढ़त हुई 16 कुंतल.
मैं हर साल 10 बिस्वा मिर्च की खेती करता हूँ और औसत उत्पादन 20-22 कुंतल हरी मिर्च का रहता था.
बसंत कुशवाहा
रामपुर (उ. प्र.)
error: Content is protected !!
WhatsApp us